Listen to the story Kaka And Munni by clicking below

This is a delightful little tale in which a crow called Kaka wants to eat the three eggs laid by Munni the bird. Will Kaka succeed in his evil plans? Listen to this story to learn more.

काका और मुन्नी इस कहानी को सुनिए नीचे क्लिक करके


यह पंजाब की एक लोक कथा है, मुन्नी नामक एक गौरैया और काका नाम के एक क़ौवे के बारे में। काका मुन्नी के तीन अंडे खाना चाहता है। क्या काका अपनी इच्छा पूरी आर पाएगा? जानिए इस कहानी को सुन कर।

यह कहानी Storyweaver द्वारा प्रकाशित कथाओं में से एक है। इसे हमने क्रीएटिव कामंज़ (Creative Commons 4.0 License) के अंतर्गत प्रकाशित किया है।

यह पंजाब की एक लोक कथा है, मुन्नी नामक एक गौरैया और काका नाम के एक काका के बारे में। काका मुन्नी के तीन अंडे खाना चाहता है। क्या काका अपनी इच्छा पूरी आर पाएगा? जानिए इस कहानी को सुन कर। इस कहानी के बारे में अधिक जाने gaathastory.com/kaka-munni पर। इस कहानी को हमने अंग्रेज़ी में भी प्रदर्शित किया है बालगाथा अंग्रेज़ी पॉड्कैस्ट पर ।

इस जैसी अन्य कहानियों को सुन सकते है बालगाथा पाड्कैस्ट पर.  क्या आप जानते हैं की बालगाथा को आप Whatsapp पर सब्स्क्राइब कर सकते हैं?

सब्स्क्राइब करने के लिए आप यहाँ क्लिक कीजिए

Telegram (टेलेग्रैम) मेसेंजर पर सब्स्क्राइब करें https://t.me/baalgatha पर

यह कहानी storyweaver द्वारा प्रकाशित कथाओं में से एक है। इसे हमने क्रीएटिव कामंज़ (Creative Commons 4.0 License) के अंतर्गत प्रकाशित किया है।

The story was published by Storyweaver. Gaatha Story have used the content under Creative Commons CC 4.0 License. More details about the the artists are included in the audio file as well as below:

Author: Kaka and Munni: A Folktale from Punjab by Natasha Sharma
Translator: Natasha Sharma
Illustrator: Vartul Adishesh Dhaundiyal
Publisher: Pratham Books

2 thoughts on “Kaka Aur Munni काका और मुन्नी

  1. Hello,
    I am looking for the original punjabi version of the story – either audio or text. Can’t seem to find it online. Can you please help me with this ?

    .. the version I am looking for is where the crow says at the end of every discussion with each character ” Khain Chiri ka cheengra, mutkaway baway moocharian”

    Thanks
    Best
    Bilal

Leave a Reply